Board index BK Section (BKs & New BK students only please) BK Reading Materials, Newsletters, Magazines, Classes 09 10 2013 GYDS SHIVSANDESH OMSHANTI

09 10 2013 GYDS SHIVSANDESH OMSHANTI


Post Thu Oct 10, 2013 1:31 am

Posts: 409
Link with BKs: BK
https://groups.google.com/forum/?hl=en% ... vyakmoorat

09 10 2013 GYDS SHIVSANDESH OMSHANTI

इस अशांत देश में तुम्हारा यह अंतिम जन्म है .. अभी तुमको चलना है शान्त देश में .. फिर जाना है सुखधाम में .. सतयुग में घर धर में रोशनी है .. सतयुग में जब लक्ष्मी नारायण तख्त पर बैठते है तो कारोंनेशन मनाते है ... बेहद का बाप बेहद की राजधानी का वर्सा देते है ... बाप कहते है मैं तुमको सदा सुख का वर्सा देने वाला हूँ ...... सवेरे उठ बाप को याद करो .. बाप और वर्से को अर्थात अल्फ और बे को याद करना है .. अल्फ अल्लाह, बे बादशाही .. आत्मा बिंदी है .. बाप कहते है तुम आत्मा हो .. आत्मा स्टार मिसल है .. उस आत्मा में सारे ड्रामा का रिकार्ड भरा हुआ है .. अब बाप फरमान करते है निरंतर मुझ बाप को याद करो ... और सबसे बुद्धियोग तोडो .. एवरहेल्दी बनने के लिए बाप को याद करना है ... बाप से ही वर्सा मिलता है एवरहेल्दी और एवरवेल्दी पने का ... स्वदर्शन चक्रधारी बनने से वेल्थ मिलेगी ... अब इस शरीर को भूल अपने को अशरीरी समझ मुझे याद करो .. यह शरीर तुमको पार्ट बजाने के लिए मिला है .. बाप है पार करें वाला .. उनको खिवैया, बागवान भी कहा जाता है ... तुमको फूल बनाकर स्वर्ग में भेज देते है ... बाप है दुःख हर्ता सुख कर्ता ... शिवबाबा है ब्रह्मा विष्णु शंकर का भी बाप ... तुम सुखधाम के लिए पुरुषार्थ कर रहे हो .. उस्ताद सर्वशक्तिमान समर्थ है .. अब स्टीमर जा रहा है बाकि थोड़े दिन है ... बाप समझाते है सवेरे उठकर जीतना हो सके अपने को आत्मा समझ मुझ बाप को याद करो ... यह है बाप का फरमान .. इश्वर को सर्वव्यापी कहना गोया अपना और भारत का बेडा गर्क करना है .. भारत को स्वराज्य का मक्खन दिलाने बाला है बाप .. बाप है खवैया, तुम सब हो नइया .. अभी तुम बैठे हो बड़े स्टीमर में ... तुम स्टीमर में उस पार जा रहे हो माना अमुर्त अथवा क्षीरसागर स्वर्ग में जाते हो ... तुम बड़े स्टीमर में बैठे हो .. तुम चल पड़े हो .. लंगर उठ गया है .. तुम जा रहे हो .. उस पार जाना है .. ब्रह्मा बाबा है स्टीमर का कैप्टन है.. इस समय माया तमोप्रधान है .. महेनत करनी है अन्त में एक की याद रहे ...

बुधवार – शक्ति का दिन – सर्वशक्तिमान की सन्तान मास्टर सर्वशक्तिमान ... साधना और साधन के बेलेंस द्वरा उमंग उत्साह भरपूर रहने वाली ब्लिसफूल आत्मा ... बाप समान शक्तिशाली आत्मा .. शान्त शीतल मीठा देवता ...


ज्ञान :- उस्ताद सर्वशक्तिमान समर्थ, दुःखहर्ता सुखकर्ता, खिवैया, बागवान, बेहद का रूहानी बाप के सतसंग में निश्चयबुद्धि बन पढाई पढ़ने वाला रूहानी मीठा सिकिलधा बच्चा .. ईश्वरीय संग वाला स्वदर्शन चक्रधारी ब्राहमण .. योग :- याद की यात्रा में अथक .. समर्थ बाप के अंग संग वाला .. समर्थ बाप के हाथ और साथ वाला .. एक बाप की याद का अभ्यास वाला ... सवेरे उठ बाप की याद वाला .. शान्ति के स्वधर्म वाला ... चलते फिरते शान्तस्वरूप .. निरंतर बाप और वर्से की याद वाला .. अल्फ और बे की याद वाला एवरहेल्दी एवरवेल्दी .. आत्मा बिंदी स्टार .. निरंतर एक बाप की याद वाला बुद्धियोगी .. अशरीरी समझ बाप को याद करें वाला ... अथक और हिम्मत से बाप को याद करें वाली अशरीरी अव्यक्त आत्मा ... धारणा :- माया पर विजयी .. फरमानबरदार पावन फूल .. श्रीमत पर मात पिता को फोलो करें वाला नष्टोमोहा .. हिम्मत से समर्थ बाप का हाथ पकड़कर रखने वाला .. एक बाप से सच्ची दिल रखने वाला ... संगदोष से अपनी सम्भाल करें वाला .. .स्वर्ग का मालिक .. क्षीरखंड का पवित्र पावन पूज्य शान्त शीतल सत्य देवता .. सेवा :- चलते फिरते शांति की शक्ति फैलाने वाली शान्तस्वरूप आत्मा .. ज्वालापॉइंट :- निरंतर याद वाली शांति की ज्वाला .. शिवसन्देश :- एक परमपिता परमात्मा की याद से अपनी हेल्थ वेल्थ को सम्भालना है .. सबंध :- परमपिता परमात्मा मातपिता बापदादा बन्धुसखा साथीस्वामी मालिकखुदादोस्त बालकवारिस बापटीचरसतगुरु को याद प्यार नमस्ते और गुड मोर्निग गुड नाईट बाबा ... सर्व सबंध से सर्व स्मुर्तीस्वरूप ... ज्ञान योग धारणा सेवा श्रीमत बैलंस वाला समान सम्पन सम्पूर्ण फरिश्ता ... सुक्रिया बाबा सुक्रिया .. आप का अक्षोनी टाइम सुक्रिया ... मेरे बाबा प्यारे बाबा मीठे बाबा ... मैं आत्मा और मेरा बाबा ही संसार है ... दुसरा ना कोई .. मैं भी बिंदी .. बाप भी बिंदी .. ड्रामा भी बिंदी ... आत्मास्वरूप देवतास्वरूप पूज्यस्वरूप ब्राहमणस्वरूप फरिश्तास्वरूप सिद्धिस्वरूप प्राप्तिस्वरूप स्मुर्तीस्वरूप

Return to BK Reading Materials, Newsletters, Magazines, Classes

cron